अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद और बागी गुट के बीच छिड़ी वर्चस्व की जंग अब खूनी संघर्ष में तब्दील होती जा रही है| शुक्रवार को डीएवी कॉलेज गेट के सामने दोनों गुटों के बीच जमकर लात घुसे व लाठी-डंडे चले जिससे अभाविप से अध्यक्ष पद के दावेदार और बागी गुट से दो पूर्व अध्यक्ष गंभीर रूप से घायल हो गए| लहूलुहान हालत में पुलिस ने तीनों घायल छात्र नेताओं को अस्पताल में भर्ती किया| खूनी झड़प के बाद कॉलेज में तनाव बना हुआ है| कॉलेज में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है| एसपी सिटी श्वेता चौबे सुरक्षा का जिम्मा संभाले हैं| खूनी संघर्ष के बाद भी कॉलेज में दिनभर झड़पें होती रही|

खूनी संघर्ष की शुरुआत सुबह उस समय हुई जब करीब 11:30 बजे अभाविप के बागी गुट के छात्र कॉलेज में शक्ति प्रदर्शन की तैयारियों में जुटे हुए थे| छात्र नेता पूर्व डीएवी अध्यक्ष शुभम सिमल्टी, राहुल कुमार लारा व वर्तमान अध्यक्ष जितेंद्र सिंह बिष्ट बाहर से आने वाले समर्थक छात्र छात्राओं को वॉलीबॉल ग्राउंड में एकत्र कर रहे थे| इसी बीच कॉलेज गेट से बाहर अभाविप और भाजयुमो के कई कार्यकर्ता भी मौजूद थे| इस दौरान भाजयुमो के कुछ कार्यकर्ताओं कि राहुल लारा से बहस होने लगी|

चंद समय में ही वहां दोनों गुटों के समर्थक जुट गए और गाली गलोज होने लगी इस दौरान दोनों गुटों में जमकर लात घुसे चलने लगे जिसे देखते ही देखते पूरे परिसर में हंगामा और भगदड़ मच गई| दोनों ओर से कार्यकर्ता लाठी-डंडों से एक-दूसरे पर वार कर रहे थे| पुलिस पहले तो बीच-बचाव कर रही थी लेकिन मामला बेकाबू होते देख पुलिस ने लाठी भांजनी शुरू कर दी| पुलिस ने दोनों गुटों के छात्रों में जमकर लाठी बरसाई| इस दौरान अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से अध्यक्ष पद के दावेदार सागर तोमर व विरोधी गुट से शुभम सिमल्टी व राहुल लारा के सिर फट गए और खून बहने लगा| कॉलेज के मुख्य गेट पर खून बिखरा होने से छात्राएं चिल्लाने लगी| पुलिस ने मारपीट में शामिल छात्रों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा और परिसर से खदेड़ कर बाहर किया| करीब 20 मिनट बाद पुलिस की मदद से छात्रों ने तीनों गंभीर घायलों को अस्पताल पहुंचाया| जहां सागर तोमर और राहुल कुमार की हालत गंभीर बनी हुई है|

अखिल भारतीय छात्र संगठन में विद्रोह कर बागी हुए गुट ने खूनी संघर्ष होने और उनके संगठन के दो शीर्ष नेता पूर्व अध्यक्ष शुभम सिमल्टी और राहुल आरा के घायल होने से डीएवी में शक्ति प्रदर्शन को रद्द कर दिया| जबकि अभाविप से अलग हुए गुट में रैली को लेकर भारी संख्या में छात्र-छात्राएं कॉलेज वॉलीबॉल ग्राउंड में जुटे हुए थे| समर्थक सिर में भगवा पट्टा बांधकर हाथों में निखिल शर्मा के पोस्टर लेकर तैयार थे लेकिन शक्ति प्रदर्शन से अभाविप व भाजयुमो के समर्थकों के साथ हुई झड़प के बाद रैली रद्द करने का निर्णय लिया| गुस्साए छात्र छात्राओं ने अपने नेता राहुल रावत व आशीष रावत के नेत्तत्व में अभाविप के खिलाफ जमकर नारेबाजी की| कई छात्राएं रैली रद्द होने से इतनी भावुक हो गई कि वह आंसुओं को नहीं रोक पाई| मौके पर दूसरी छात्राओं ने उन्हें समझाया और समझा-बुझाकर चुप करवाया|